आस्थाउतराखंड

*प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के नवनिर्मित भवन का हुआ उदघाटन*

ऋषिकेश। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय, गीता नगर, ऋषिकेश के नवनिर्मित भवन के भव्य उद्घाटन के अवसर पर रंगारंग कार्यक्रमो के साथ राजयोगिनी बी०के०शारदा दीदी, महामंडलेश्वर स्वामी असंगानंद महाराज एवं महामंडलेश्वर विजयानन्द महाराज के आशीर्वचनों द्वारा शहर के गण-मान्य व्यक्तियों के सानिध्य में संपन्न हुआ।
राजयोगिनी, बी०के० शारदा दीदी ( राष्ट्रीय संयोजिका, महिला प्रभाग, ब्रह्माकुमारिज़) ने बताया
आत्मा जब शरीर छोड़ती है तो सभी इंद्रियां शांत हो जाती हैं, जैसा कर्म आत्मा करती है उसी अनुसार आत्मा पाप-आत्मा, देव-आत्मा, पुण्य-आत्मा कहलाती है, हम सब समाज व जीवन में परिवर्तन चाहते हैं, शांति चाहते हैं, परंतु ढूंढ उसे जंगल व पहाड़ों पर रहे हैं, जहां शांति निवास करती है वहां उसे ढूढं ही नहीं पा रहे हैं। वह है हमारा अंतर्मन, क्योंकि हमने आत्मा का धर्म भूलकर देह की दीवारें खड़ी कर दी है, इस दुनिया को बैकुंठ व सोने की चिड़िया बनाने के लिए हम सभी को अपने अंतर्मन से साधना करनी है तभी सतयुग वापस आएगा।
विशिष्ट अतिथि महामंडलेश्वर स्वामी असंगानन्द महाराज (परमार्थ निकेतन ऋषिकेश) ने बताया परमात्मा ने कहा मेरा जो विश्व में आकरी रूप है, जब तक मैं नहीं होगा उसमें चेतना कहां से आएगी, इसलिए मैं सर्वत्र निवास करता हूं।
एवं महामंडलेश्वर स्वामी विजयानंद महाराज (शिवालय आश्रम ऋषिकेश) ने बताया आज का मनुष्य तीन चीजों में फंसा है, आध्यात्मिक ताप, भौतिक ताप व आदि-भौतिक ताप। आध्यात्मिक ताप है मनुष्य का क्रोध,अहंकार, लोभ, मोह आदि। भौतिक ताप है प्राकृतिक आपदाएं एवं आदि-भौतिक ताप है शरीर के कर्म एवं उसकी व्याधिया।
आदरणीया राजयोगिनी बी०के० मीना दीदी (प्रमुख संचालिका हरिद्वार सेंटर) द्वारा सभी अतिथियों को बहुत सुंदर योगाभ्यास की अनुभूति कराई गई।
राजयोगिनी बी० के० मंजू दीदी (संचालिका देहरादून सर्कल ब्रह्माकुमारीज) ने सभी अतिथियों का स्वागत अपने मधुर वचनों द्वारा किया व उनके आगमन पर उन्हें धन्यवाद प्रेषित किया।
कार्यक्रम का संचालन ब्रह्माकुमार सुशील द्वारा बड़ी कुशलता पूर्वक किया गया।
राजयोगिनी बी०के० आरती दीदी, (ऋषिकेश सेंटर की प्रमुख संचालिका) द्वारा सभी संगठन व संस्थाओं के प्रमुख को ईश्वरीय सौगात देकर उनका अभिनंदन किया गया।
कार्यक्रम में अन्त मे सभी अतिथियों व बी०के० भाई बहनों ने ब्रह्म भोज का आनंद लिया।
बी०के० भाई बहनों व स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत अलग-अलग सांस्कृतिक कार्यक्रम ने सभी उपस्थित अतिथियों का मन मोह लिया।
हेमकुंड गुरुद्वारा से यूथ जत्थे के गगन सिंह बेदी, निरंकारी भवन से दुष्यंत सिंह , सुजीत सिंह , इनरव्हील क्लब से सचिव सुलोचना महंत रोटरी दिवास की सचिव तनु जैन सिंधी समाज की अध्यक्ष पूनम अगीचा एवं संरक्षक भावना सिंधी नगरपूर्व चैयरमेन दीप शर्मा, एडवोकेट दीनानाथ अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष व्यापार सभा नवल किशोर कपूर, वरिष्ठ नागरिक कल्याण के अध्यक्ष प्रमोद जैन एवं सचिव आदि उपस्थित रहे

Related Articles

Back to top button